Hindi Rekha chitra Aur Sansmaran | हिंदी रेखा चित्र एवं संस्मरण

Hindi Rekha chitra Aur Sansmaran हिंदी रेखा चित्र एवं संस्मरण

Hindi Rekha chitra Aur Sansmaran | हिंदी रेखा चित्र एवं संस्मरण Hindi Rekha chitra | हिंदी रेखा चित्र : जब शब्दों के माध्यम से किसी व्यक्ति के व्यक्तित्व को उभारा जाता है तब उस रचना को रेखाचित्र कहा जाता है। रेखाचित्र अंग्रेजी के “स्केच” शब्द का अनुवाद है। जिस प्रकार चित्रकला में भी बिना रंगों … Read more

Hindi Sahitya Ki Jivni | हिंदी साहित्य की जीवनी

Hindi Sahitya Ki Jivni (हिंदी साहित्य की जीवनी)

Hindi Sahitya Ki Jivni | हिंदी साहित्य की जीवनी Hindi Sahitya Ki Jivni | हिंदी साहित्य की जीवनी : किसी महान व्यक्ति के जीवन का संपूर्ण विवरण क्रमबद्ध रूप से किसी अन्य लेखक द्वारा प्रस्तुत किया जाता है तो वह जीवनी कहलाती है। याद रखिये कि आत्मकथा स्वयं लिखी जाती है। जीवनी किसी दूसरे लेखक … Read more

Hindi Sahitya Ki Aatmkathaye | हिंदी साहित्य की आत्मकथाएँ

Hindi Sahitya Ki Aatmkathaye (हिंदी साहित्य की आत्मकथाएँ)

Hindi Sahitya Ki Aatmkathaye | हिंदी साहित्य की आत्मकथाएँ Hindi Sahitya Ki Aatmkathaye | हिंदी साहित्य की आत्मकथाएँ : जब कोई महान व्यक्ति अपने जीवन की महत्वपूर्ण घटनाओं को श्रृंखलाबद्ध तरीके से स्वयं लिखता है तब उसे आत्मकथा कहते हैं। आत्मकथा का अर्थ है –अपनी कथा । आत्मकथा में लेखक निरपेक्ष व तटस्थ रहता है। … Read more

Hindi Sahitya Ke Natak | हिंदी साहित्य के नाटक

Hindi Sahitya Ke Natak (हिंदी साहित्य के नाटक)

Hindi Sahitya Ke Natak | हिंदी साहित्य के नाटक Hindi Sahitya Ke Natak | हिंदी साहित्य के नाटक : हिंदी में नाटक लिखने की परंपरा बहुत पुरानी है। हिंदी में नाटक लिखने की परंपरा की शुरुआत भारतेंदु बाबू हरिश्चंद्र से हुई क्योंकि इनसे पहले नाटक विधा नाम से जो रचनाएं हिंदी में उपलब्ध थी, उनमें … Read more

Hindi Sahitya Ke Nibandh | हिंदी साहित्य के निबंध

Hindi Sahitya Ke Nibandh (हिंदी साहित्य के निबंध)

Hindi Sahitya Ke Nibandh | हिंदी साहित्य के निबंध Hindi Sahitya Ke Nibandh (हिंदी साहित्य के निबंध) : हिंदी की अन्य विधाओं के समान ही हिंदी निबंध का प्रारम्भ भारतेंदु युग से ही माना जाता है। इस काल में समाज में एक नई चेतना देखने को मिली। इस काल में लोगों ने अपने विचारों को … Read more

error: Content is protected !!