Contents

Hindi Rekha chitra Aur Sansmaran | हिंदी रेखा चित्र एवं संस्मरण


Hindi Rekha chitra | हिंदी रेखा चित्र : जब शब्दों के माध्यम से किसी व्यक्ति के व्यक्तित्व को उभारा जाता है तब उस रचना को रेखाचित्र कहा जाता है।

रेखाचित्र अंग्रेजी के “स्केच” शब्द का अनुवाद है। जिस प्रकार चित्रकला में भी बिना रंगों का प्रयोग किए हुए रेखाओं से रेखाचित्र निर्मित किए जाते हैं उसी प्रकार रेखा चित्र में भी शब्दों के माध्यम से व्यक्ति के व्यक्तित्व को निखार आ जाता है।

डॉ. गोविंद त्रिगुणायत के शब्दों में-

“रेखा चित्र वस्तु, व्यक्ति अथवा घटना का शब्दों द्वारा विनिर्मित वह मर्मस्पर्शी और भावमय रूप विधान है जिसमें कलाकार का संवेदनशील हृदय और उसकी सूक्ष्म पर्यवेक्षण दृष्टि अपना निजीपन उड़ेल कर
प्राण प्रतिष्ठा कर देती है।”



Hindi Sansmaran | हिंदी संस्मरण : रेखा चित्र से मिलती जुलती विद्या संस्मरण है जिसके लिए अंग्रेजी शब्द “ममोयर्स” है । स्मृतियों के आधार पर किसी विशेष व्यक्ति या विषय के बारे में लिखा गया आलेख संस्मरण कहलाता है


Hindi Rekha chitra Aur Sansmaran | हिंदी रेखा चित्र एवं संस्मरण में अंतर


हिंदी रेखा चित्र एवं संस्मरण में अंतर इसप्रकार से है :

  • संस्मरण और रेखाचित्र में विभाजक रेखा खींच पाना कठिन है फिर भी संस्मरण विवरणात्मक होते हैं और रेखाचित्र रेखात्मक होते हैं। उनमें इतिवृत्त की प्रधानता नहीं होती।
  • रेखा चित्रों में सूक्ष्म तथ्य रहते हैं । घटनाओं का विवरण नहीं दिया जाता।
  • रेखा चित्रों में वस्तुपरक दृष्टिकोण की प्रधानता रहती है जबकि संस्मरण आत्मक रचना है।
  • संस्मरण रेखाचित्र प्राय: घुल मिल गए हैं।
  • कोई साहित्यकार यह सोचकर नहीं लिखता कि वह संस्मरण लिख रहा है या रेखाचित्र।
  • सरस्वती पत्रिका के माध्यम से संस्मरण अस्तित्व में आया।

हरवंश लाल शर्मा ने पंडित पदम सिंह शर्मा को संस्मरण रेखाचित्र का जनक माना है।


Hindi Rekha chitra Aur Sansmaran | प्रमुख हिंदी रेखा चित्र एवं संस्मरण


Hindi Rekha chitra Aur Sansmaran | प्रमुख हिंदी रेखा चित्र एवं संस्मरण निम्नानुसार है :

सूची – I

लेखकप्रमुख संस्मरण और रेखाचित्र
महावीर प्रसाद द्विवेदीअनुमोदन का अंत – 1905
सभा की सभ्यता – 1960
विज्ञानाचार्य बसु का विज्ञान मंदिर – 1918
बालमुकुंद गुप्तहरिऔध जी के संस्मरण
पदम सिंह शर्मापदम पराग 1928
श्रीराम शर्मा सन बयालीस के संस्मरण – 1948
बोलती प्रतिमा – 1937
महादेव वर्मा पथ के साथी – 1956
अतीत के चलचित्र – 1941
स्मृति की रेखाएं – 1943
बनारसीदास चतुर्वेदी संस्मरण
हमारे आराध्य -1952
घनश्याम दास बिड़लाबापू – 1940
रामनरेश त्रिपाठी तीन दिन: मालवीय जी के साथ
मन्मथ नाथ गुप्त क्रांति युग के संस्मरण – 1937
शिवपूजन सहायवे दिन वे लोग – 1965
सेठ गोविंद दासस्मृति का कण
विष्णु प्रभाकरजाने अनजाने
माखनलाल चतुर्वेदीसमय के पांव

सूची – II

लेखकप्रमुख संस्मरण और रेखाचित्र
कन्हैयालाल मिश्र प्रभाकरभूले हुए चेहरे
जिंदगी मुस्कुराई
काका कालेलकर गांधी संस्मरण और विचार 1968
अजीत कुमार ओंकार नाथ श्रीवास्तवबच्चन निकट से – 1968
रामधारी सिंह दिनकरसंस्मरण और श्रद्धांजलियां – 1969
लक्ष्मीनारायण सुधांशु व्यक्तित्व की झांकियां – 1970
रामदरश मिश्र स्मृतियों के छंद
अपने-अपने रास्ते
एक दुनिया अपनी
रवींद्र कालियासृजन के सहयात्री
विष्णु चंद शर्माअभिन्न
बिंदूअग्रवाल यादें और बातें
पद्मा सचदेव अमराई – 2000
राजेंद्र यादववे देवता नहीं है – 2000
देवेंद्र सत्यार्थी यादों के काफिले – 2000
विश्वनाथ प्रसाद तिवारी एक नाव के यात्री – 2001
नरेश मेहता पद दक्षिणा अपने समय की – 2001
विद्यानिवास मिश्रचिड़िया रैन बसेरा – 2002


सूची – III

लेखकप्रमुख संस्मरण और रेखाचित्र
मनोहर श्याम जोशीलखनऊ मेरा लखनऊ
रघुवीर सहाय रचनाओं के बहाने
कृष्ण बिहारी मिश्रनेह के नाते अनेक
विवेकी रायआंगन के बंदनवार
मधुरेश यह जो आईना है – 2006
काशीनाथ सिंहकाशी का अस्सी – 2002
घर का जोगी जोगड़ा – 2006
अच्छे दिन पाछे गए – 2004
कांति कुमार जैनतुम्हारा परसाई – 2004
जो कहूंगा सच कहूंगा – 2006
अब तो बात फैल गई – 2007
बैकुंठपुर में बचपन – 2010
विश्वनाथ त्रिपाठीनंगा तलाई का गांव – 2004
अमरकांतकुछ यादें कुछ बातें – 2008
निर्मला जैन हिंदी शहर दर शहर – 2009
मुद्राराक्षसकालातीत – 2009
ममता कालिया
कितने शहरों में कितनी बार – 2009
कल परसों के बरसों – 2011
नरेंद्र कोहली स्मृतियों के गलियारे से – 2012
विश्वनाथ त्रिपाठी – गंगा स्नान करने चलोगे – 2012
मधुरेश आलोचक का आकाश

सूची – IV

लेखकप्रमुख संस्मरण और रेखाचित्र
ओम थानवी अपने-अपने अज्ञेय – 2012
कृष्णा सोबतीहम हशमत
दूधनाथ सिंहलौट आओ धार – 1995
पदमलाल पुन्नालाल बख्शी अंतिम अध्याय – 1972
कमलेश्वरमेरा हमदम मेरा दोस्त
भगवतीचरण वर्माअतीत के गर्त से
मैथिलीशरण गुप्तश्रद्धांजलि संस्मरण
सुलोचना रांगेय राघव पुन: – 1979
विष्णु प्रभाकर यादों की तीर्थ यात्रा
राजेंद्र यादव औरों के बहाने
अमृतलाल नागर जिनके साथ जिया
अज्ञेयस्मृति लेखा
विष्णु प्रभाकरसृजन के सेतू
काशीनाथ सिंहयाद हो कि न याद हो – 1992
गिरिराज किशोर सप्तपर्णी

सूची – V

लेखकप्रमुख संस्मरण और रेखाचित्र
अमृतराय जिनकी याद हमेशा रहेगी -1992
विष्णुकांत शास्त्रीसुधिंया उस चंदन के वन की – 1992
पर साथ-साथ चल रही याद – 2004
उपेंद्रनाथ अश्क
रेखाएं और चित्र – 1955
मंटो मेरा दुश्मन – 1956
ज्यादा अपनी कम पराई – 1959
विष्णु प्रभाकर-कुछ शब्द कुछ रेखाएं – 1965
मेरे अग्रज मेरे मीत – 1986
राहुल सांकृत्यायनबचपन की स्मृतियां – 1955
जिनका मैं कृतज्ञ – 1957
मेरे असहयोग के साथी
रामकुमार वर्मा संस्मरणो के सुमन – 1982
फणीश्वर नाथ रेणु वन तुलसी की गंध – 1984
रामविलास शर्मा पंचरत्न
मोहन राकेशसमय सारथी
शैलेश मटियालीलेखक की हैसियत से
नगेंद्र चेतना के बिम्ब
महादेवी वर्मा अतीत के चलचित्र
स्मृति की रेखाएं
पथ के साथी
रघुवीर सिंह शेष स्मृतियां
काशीनाथ सिंहयाद हो कि न याद हो – 1992
जगदीश चंद्र माथुर दस तस्वीरें

ये भी अच्छे से जाने :


एक गुजारिश :

दोस्तों ! आशा करते है कि आपकोHindi Rekha chitra Aur Sansmaran | हिंदी रेखा चित्र एवं संस्मरण के बारे में हमारे द्वारा दी गयी जानकारी पसंद आयी होगी I यदि आपके मन में कोई भी सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट करके अवश्य बतायें I हम आपकी सहायता करने की पूरी कोशिश करेंगे I

नोट्स अच्छे लगे हो तो अपने दोस्तों को सोशल मीडिया पर शेयर करना न भूले I नोट्स पढ़ने और हमारी वेबसाइट पर बने रहने के लिए आपका धन्यवाद..!


2 thoughts on “Hindi Rekha chitra Aur Sansmaran | हिंदी रेखा चित्र एवं संस्मरण”

  1. आपके द्वारा संकलित विषय वस्तु संग्रहणीय एवम उपयोगी है।आपके इस अद्वितीय कार्य के लिए बहुत बहुत धन्यवाद।

    Reply

Leave a Comment

error: Content is protected !!